Astro Sandesh

आपके आज को श्रेष्ठ बनाने की पूजा विधि

31 जनवरी 2018 आज माघ महीने के शुक्लपक्ष की पूर्णिमा तिथि, पुष्य नक्षत्र, आयुष्मान योग, विष्टि करण और दिन बुधवार है I आज माघ पूर्णिमा, ग्रस्तोदय खग्रास चंद्रग्रहण, श्रीसत्यनारायण व्रत, श्रीगुरु रविदास जयंती एवं श्रीललिता जयंती है I आज माघ पूर्णिमा का पावन पर्व है आज के दिन भगवान् श्री सत्यनारायण जी का स्मरण करते हुए पीले फूल और पीला फल भगवान् कृष्ण या भगवान् विष्णु जी के चरणों में चढ़ाएं और “सत्य नारायणाय नमः” मन्त्र का 7 बार उच्चारण करें I प्रातःकाल स्नान के जल में गंगा आदि तीर्थ का जल भी मिलाये, इससे पूरे माघ महीने के पुण्यों का फल प्राप्त होता है और भगवान् नारायण की कृपा प्राप्त होती है I आज 5:58pm – 8:41pm तक चन्द्र ग्रहण रहेगा I इस बीच में खाना, पीना, सोना, शौच आदि जाना, अधिक बोलना, किसी भी तरह का अशुभ एवं पाप कर्म करना, यात्रा करना आदि वर्जित है I गर्भिणी स्त्रियों को इस दौरान विशेष एहतियात बरतने की आवश्यकता रहती है I हालाँकि ग्रहण का सूतक प्रातःकाल से ही प्रारम्भ हो जाएगा अतः पूरा दिन ही प्रभु के ध्यान, स्मरण, वंदन में लगायें I ग्रहणकाल में शुद्ध स्थान पर बैठकर अपने इष्टदेव के मन्त्रों का जाप करने से विशेष सिद्धि की प्राप्ति होती है I साधकगण इस समय में अपने तंत्र मन्त्र की सिद्धि भी करते हैं I ग्रहण की समाप्ति के पश्चात् जौं, तिल, कुश मिले जल से स्नान करें और दूध और चावल श्रद्धानुसार दान के लिए निकालें I ...

Read more...

आपके आज को श्रेष्ठ बनाने की पूजा विधि

24 जनवरी 2018 आज माघ महीने के शुक्लपक्ष की सप्तमी तिथि, रेवती नक्षत्र, सिद्ध एवं साध्य योग, वणिज करण और दिन बुधवार है I आज रथ-आरोग्य व्रत, पुत्र सप्तमी व्रत, अचला-भानु सप्तमी एवं श्रीमाधवाचार्य जयंती है I आज आरोग्य और रथ सप्तमी का पावन पर्व है. आज ही के दिन पहली बार सृष्टि की शुरुआत में भगवान् सूर्य ने अपनी दिव्य रश्मियों से संसार को प्रकाशित किया था. आज भगवान् सूर्य की लाल पुष्प और रौली से अवश्य पूजा करें. इससे आपको धन, संतान, आरोग्य एवं लम्बी आयु की प्राप्ति होगी. आज के दिन को अचला सप्तमी, भानु सप्तमी एवं पुत्र सप्तमी भी कहा जाता है. आज के दिन विधिपूर्वक व्रत रखने से पुत्र संतति और अचल संपत्ति की प्राप्ति होती है. ...

Read more...

आपके आज को श्रेष्ठ बनाने की पूजा विधि

22 जनवरी 2018 आज माघ महीने के शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि, उ० भाद्रपद नक्षत्र, परिघ योग, बालव करण और दिन सोमवार है I आज वसन्त (श्री) पंचमी, सरस्वती पूजन एवं वागेश्वरी जयंती है I आज के दिन भगवान् श्री विष्णु, माता सरस्वती व श्री कृष्णराधा जी की पीले पुष्पों, गुलाल, पीले चन्दन, धूप, दीप और नैवेद्य के द्वारा पूजन करें एवं पीले- मीठे चावलों का भोग लगायें और परिवार सहित प्रसाद ग्रहण करें. अपने तथा बच्चों के सिर पर हाथ रखकर 16 बार “ऐं धीम् ऐं सरस्वत्यै नमः” का जाप करें. इससे भगवती माँ शारदा की बुद्धि, विद्या, विवेक, सुवाणी एवं सुसंपदा का उत्तम आशीर्वाद प्राप्त होता है. बच्चों का मन विद्या के प्रति एकाग्र होता है. बड़ों को व्यावसायिक कुशलता की प्राप्ति होती है.  ...

Read more...